Daily News

महानिदेशक राष्ट्रीय लेखा परीक्षा एवं लेखा अकादमी सुनील दाधे तथा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सिकंदर कुमार ने भी राज्यपाल से शिष्टाचार भेंट की,रिकांगपिओ

#रिकांगपिओ

उपायुक्त कार्यालय स्थित सभागार में जिला परिषद अध्यक्ष निहाल चारस की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में जिला परिषद सदस्यों द्वारा अपने-अपने वार्डों से संबंधित विकास कार्यों पर चर्चा की गई।निहाल चारस ने कहा कि हम सभी सदस्य का एकमात्र उद्देश्य जिले का समग्र विकास सुनिश्चित बनाना है और इस दिशा में सभी सदस्य कार्य भी कर रहे हैं। बैठक में 01 अप्रैल, 2021 से 31 जुलाई, 2021 तक के आय-व्यय को भी मंजूरी प्रदान की गई। बैठक में सदस्य द्वारा जिले में स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्रामीण विकास, सिंचाई एवं जन-स्वास्थ्य, पशु-पालन व बागवानी विभाग सहित विभिन्न विभागों में कर्मचारियों के रिक्त पदों को भरने का मामला भी सदस्यों द्वारा उठाया गया तथा सर्व सहमति से प्रस्ताव पारित किया गया कि रिक्त पदों को भरने का मामला प्रदेश सरकार के समक्ष उठाया जाए। सदस्यों का मानना था कि विभिन्न विभागों में रिक्त पदों के भरे जाने से जिले में विकास कार्यों में और तेजी आएगी।बैठक में सदस्यों द्वारा शौग-ठौंग करछम जल विद्युत परियोजना प्रबंधन द्वारा ग्राम पंचायत कल्पा को परियोजना से 500 दिन की न्यूनतम दिहाड़ी के बराबर धन राशि उपलब्ध करवाने का मामला भी उठाया गया जिस पर जिला परिषद अध्यक्ष ने शौंग-ठौंग करछम जल विद्युत परियोजना प्रबंधन को नवम्बर माह तक प्रभावितों को पूर्ण राशि उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।बैठक में सदस्यों द्वारा रिकांग पिओ, चांसू वाया रली बस चलाने का भी आग्रह किया गया तथा निर्णय लिया गया कि मामला प्रदेश सरकार से उठाया जाएगा। बैठक में सापनी व यंगप्पा सड़क के मुरम्मत का कार्य शीघ्र आरंभ करने का भी लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने आश्वासन दिया।बैठक में सदस्यों द्वारा प्राकृतिक आपदा से फलों व कृषि फसलों के नुकसान की पूर्व निर्धारित दरों में वृद्धि करने का भी प्रस्ताव भी पारित किया गया। बैठक में जिले में मृदा जांच सुविधा उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया गया। सदस्यों का मानना था कि जिले में मृदा जांच सुविधा न होने से किसानों व बागवानों को कठिनाई का

सामना करना पड़ रहा है।बैठक में सदस्यों ने जिले में बागवानी की नई तकनीकों व सघन बागवानी के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए पंचायत स्तर पर जागरूकता शिविर लगाने का भी आग्रह किया तथा जिले के बागवनों को उन्नत व नए किस्म के पौधे उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया। इस पर बागवानी विभाग के अधिकारी ने बताया कि विभाग द्वारा समय समय पर बागवानों की सुविधा के लिए बागवान शिविरों का आयोजना किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि बागवनों को उनकी मांग के आधार पर उन्नत किस्म के पौधे उपलब्ध करवाए जाते हैं।बैठक में पंचायत विभाग के गैस्ट-हाउस को शिक्षा विभाग से वापस लेने का मामले पर भी चर्चा की गई। इसके अलावा जिला पंचायत कार्यालय के समीप एक स्टोर निर्माण कार्य को भी स्वीकृति प्रदान की गई। सदस्यों द्वारा डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्रण कार्य को और सुदृढ़ करने का भी आग्रह किया गया।बैठक में पुराना हिंदुस्तान तिब्बत मार्ग की मुरम्मत का मामला भी उठाया गया। सदस्यों द्वारा रिब्बा कंडे के लिए सड़क के निर्माण कार्य को शीघ्र आरंभ करने तथा मूरंग पुल की मुरम्मत करने का भी आग्रह किया गया।बैठक में थोपन खारो पुल के समीप वर्षा शालिका व शौचालय निर्माण करने का भी प्रस्ताव रखा गया।बैठक की कार्यवाही का संचालन उपनिदेशक एवं परियोजना अधिकारी ग्रामीण विकास अभिकरण जयवंती ठाकुर ने किया। उन्होंने इस दौरान सभी सदस्यों से 9 अगस्त से 15 अगस्त, 2021 तक चलाए जाने वाले स्वच्छ हिमाचल अभियान को सफल बनाने में सदस्यों का सहयोग मांगा। इस पर सदस्यों ने सदन को विश्वास दिलाया कि सदस्य जिला में चलाए जाने वाले स्वच्छ हिमाचल अभियान को सफल बनाने में अपना पूर्ण सहयोग देंगे। उन्होंने कहा कि सभी की सहभागिता से हम जिले को स्वच्छ व सुदंर बना सकते हैं।जिला परिषद उपाध्यक्ष प्रिया नेगी, जिला परिषद के सदस्य, पंचायत समिति कल्पा के अध्यक्ष गंगा राम व निचार पंचायत समिति की अध्यक्ष राजवंती व पूह पंचायत समिति की अध्यक्ष इंदू किरण, सहायक आयुक्त मुनीष कुमार शर्मा सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष बैठक में उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button